एदे फोटू ल चपक के मुख्य पेज म लहुंटव—

शुक्रवार, 7 दिसंबर 2018

छत्तीसगढ़ी के बड़का कलमकार पं. श्यामलाल चतुर्वेदी आज अम्मर होगे

पं. श्यामलाल चतुर्वेदी

    जीवन परिचय   


छत्तीसगढ़ी लेखन म तइहा समे म गिनेचुने नाम रिहिस जेन म एक बड़े नाम पं. श्याललाल चतुर्वेदी के तको हावय। पं. श्यामलाल चतुर्वेदी जी के जनम बिलासपुर के कोटमी गांव म सन 1926 के होवय रिहिस। ओमन छत्तीसगढ़ी के सबो विधा म अपन कलम चलाइन कविता, गीत अउ कहानी के संग्रह तको प्रकाशित होय हाबे। पंडित जी के ​लेखन 1940 ले सुरू होगे रिहिन होबे। अपन जमाना म ओमन एक पत्रकार के रूप जनसत्ता, नवभारत टाइम्स जइसन अखबार म सेवा तको दे हावय। शिक्षक के रूप म तको उन गजब दिन ले अपन सेवा दिन। पंडित जी मन अपन जीवन म "विप्रजी" जी गजब प्रभावित होइन अउ उकरे केहे म ओकर कलम ह छत्तीसगढ़ी के सिरजन कोती रेंगे लागिस। "बेटी के बिदा, "पर्रा भर लाई", "भोलवा भोलाराम बनिस", "राम बनबास", जब आइस बादर करिया"। पं. श्यामलाल चतुर्वेदी जी ल राज्य कोति ले कतकोन सम्मान मिली हावय, सबले बड़े सम्मान उनला 2018 म पदमश्री मिलिस भारत सरकार कोति ले।

रविवार, 9 सितंबर 2018

10 दिवसीय रायगढ़ चक्रधर समारोह 13 ले 22 सितम्बर तक रामलीला मैदान म






रायगढ़। महाराजा चक्रधर सिंह के स्मृति म आयोजित होवइया चक्रधर समारोह म देश के विख्यात कलाकार मन अपन कला के प्रदर्शन करथे। ये राजा चक्रधर सिंह के जन्मोत्सव रामलीला मैदान म 13 सितम्बर ले 22 सितंबर तक रामलीला मैदान म संझा 7 बजे से सुरू होही। येकर अलावा 16, 17 अउ 18 सितम्बर के कुश्ती अउ 20, 21 के 22 सितम्बर के कबड्डी प्रतियोगिता आयोजित होही। 

चक्रधर समारोह म प्रस्तुत होवइया कार्यक्रम-


13 सितम्बर- वेदमणि सिंह ठाकुर के वंदना। वाराणसी के विशाल कृष्णा के कथक। मुम्बई के महालक्ष्मी अय्यर के गायन।
14 सितम्बर- ट्रीना राय कोलकाता के कथक। पद्मश्री भजन सोपोरी के संतूर वादन। सुश्री पूर्णिमा अशोक नई दिल्ली के भरत नाट्यम। सुश्री नेहा सिंह अउ कान्तिका मिश्रा लखनऊ के कथक। 
15 सितम्बर- मनोरंजन प्रधान भुवनेश्वर के ओडिसी। पद्मश्री प्रताप पवार भोपाल के कथक। पद्मभूषण पं.छन्नूलाल मिश्र वाराणसी के गायन। प्रफुल्ल गहलोत भोपाल के कथक। राजेश सिंह अउ अजय पाण्डेय ’सहाब्य(लखनऊ)के गजल।
16 सितम्बर- नलिनी कमलिनी के कथक। मंदाकिनी स्वाइन नई दिल्ली के गायन। पीयुष अउ प्रीति मुम्बई के कथक। हैदराबाद के पद्मश्री वारसी ब्रदर्स के कव्वाली।
17 सितम्बर- एक भारत श्रेष्ठ भारत (गुजरात), सूपर्वा मिश्रा अहमदाबाद के नृत्य नाटिका। रायपुर के श्री हीरा मानिकपुरी- एनएसडी, नाटक। ग्वालियर के हिमांशु द्विवेदी के नाटक।

18 सितम्बर- कुमुद दीवान दिल्ली के गायन। लूना पोद्दार कोलकाता के कथक। पद्मश्री कुमकुम मोहंती भुनेश्वर के ओड़िसी के मुम्बई के रूप कुमार राठौड़ अउ सोनाली राठौड़ के गजल।
19 सितम्बर- बिलासपुर के सुश्री बासंती वैष्णव के कथक रायगढ़ घराना। बिलासपुर के श्री भूपेन्द्र बरेठ-कथक रायगढ़ घराना। कवि सम्मेलन।
20 सितम्बर- पूरन महाराज वाराणासी के तबला। कालापिनी कोमकली देवास के गायन अउ श्री दीपक चन्द्राकर-छत्तीसगढ़ी लोकरंग अर्जुन्दा।
21 सितम्बर- सुश्री रशनी वर्मा के पंडवानी। परामिता मैत्रा कोलकाता के कथक। उस्ताद साबिर खान कोलकाता के तबला। पद्मश्री देबधारा ग्रुप दिल्ली के ओड़िसी।
22 सितम्बर-  प्रो.लवली शर्मा के सितारवादन (ग्वालियर)। रायपुर के पूर्णाश्री राऊत अउ अंकिता राऊत के ओड़िसी। दिल्ली के जी.कलाईवाणी के भरतनाट्यम। मुम्बई के निधि प्रभु के कथक।दिल्ली के अख्तर बंधु-सूफी के गायन।